आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) – एक इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत

युवा के लिए जिम्मेदार AI 2022

एक इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत

परिचय-

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) तेजी से हमारे जीवन का हिस्सा बनती जा रही है। फिर भी AI को एक तकनीक के रूप में जानने व समझने वालों की संख्या सीमित है। भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिविजन ने ‘युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022 ‘ कार्यक्रम नामक एक इनोवेशन चैलेंज की शुरुआत की है।

आज के छात्र कल के चेंजमेकर होंगे। भविष्य की जरुरतों के लिए तैयार करने के लिए हमें उन्हें उपकरणों, संसाधनों और नए स्किल सीखने के अवसर प्रदान कर सशक्त बनाने की आवश्यकता है। डिजिटल युग में एक कुशल व सक्षम कार्यबल किसी भी देश और उद्योग के विकास की नींव है। एआई-आधारित अर्थव्यवस्था में हमारे युवाओं की क्षमता निर्माण के लिए एक नए और समावेशी दृष्टिकोण की आवश्यकता है।

कार्यक्रम के तहत देश भर के 20 छात्रों को माननीय केंद्रीय मंत्री, श्री अश्विनी वैष्णव और माननीय राज्य मंत्री, श्री राजीव चंद्रशेखर के साथ संवाद और दिल्ली आकर उन्हें अपना काम दिखाने का अवसर प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, चुनिंदा छात्रों को डिजिटल इंडिया वीक 2022 में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने और अहमदाबाद में उन्हें अपना समाधान दिखाने का अवसर प्रदान किया गया था।

यदि आप कक्षा 8वीं से 12 वीं तक के स्कूली छात्र हैं और एआई तकनीक की अपनी समझ को व्यापक बनाने के लिए उत्साहित हैं तथा देश भर के प्रतिभाशाली लोगों के साथ सीखने का मौका पाना चाहते हैं, तो ‘युवा के लिए जिम्मेदार एआई 2022’ कार्यक्रम के लिए पंजीकरण करें।

पूर्व-अपेक्षाएं

एआई आइडियेशन और विकास का मार्ग कठिन व जटिल हो सकता है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि इसके लिए कोई पूर्वापेक्षाएँ नहीं हैं!

‘युवाओं के लिए जिम्मेदार एआई’ कार्यक्रम, आपको अपने मेंटर्स के माध्यम से प्रक्रिया में आगे चरण-दर-चरण ले जाता है, ताकि आप बिना किसी पूर्व ज्ञान या अनुभव के एआई के बारे में जान सकें।

एआई सीखने के लिए आपको बस कुछ नया सीखने के लिए इच्छुक होना आवश्यक है।

कार्यक्रम का विवरण

कार्यक्रम तीन चरणों में आयोजित किया जाएगा:

चरण 1

  1. कार्यक्रम के लिए शिक्षकों को स्व-नामांकन के माध्यम से ऑन-बोर्ड किया जाएगा

  2. प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश से शिक्षकों को निम्न अनुसार मनोनीत किया जाएगा:

    • 10+ शिक्षक 20 से कम जिलों वाले राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।

    • 15+ शिक्षक 20-40 जिले वाले राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।

    • 20+ शिक्षक 40 से अधिक जिलों वाले राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मनोनीत किए जाएंगें।

  3. शिक्षक कार्यक्रम और उनकी भूमिकाओं का विवरण प्रदान करने के लिए जिम्मेदार होंगे, इस संबंध में शिक्षकों को पहले ही जानकारी प्रदान की जाएगी। सत्र का विवरण अग्रिम रूप से साझा किया जाएगा।

  4. प्रत्येक नामांकित शिक्षक अपने संबंधित स्कूलों के छात्रों की पहचान करेगा और आयोजन टीम के साथ उनका विवरण साझा करेगा। इसके अतिरिक्त, छात्र ‘अभी भाग लें’ पर क्लिक करके स्व-पंजीकरण कर सकते हैं।

  5. कोर एआई अवधारणाओं से जुड़ी जानकारी हेतु पंजीकृत छात्रों के लिए विशेषज्ञों के साथ ऑनलाइन ओरियंटेशन सत्र आयोजित किए जाएंगे ताकि छात्रों को आइडियेशन की प्रक्रिया आसानी से समझ में आ जाए।

  6. ऑनलाइन ओरियंटेशन के पूरा होने के बाद प्रोग्राम वेब पोर्टल के माध्यम से छात्र ‘भागीदारी का प्रमाण पत्र’ डाउनलोड कर सकेंगे।

  7. . छात्रों को आठ मुख्य विषयों में से किसी एक के लिए 120 सेकंड के वीडियो के माध्यम से प्रस्तावित एआई आधारित समाधान का विवरण (व्यक्तिगत रूप से या 2 की टीमों में) प्रस्तुत करने के लिए कहा जाएगा।

    • कृषि – कृषि में एआई

    • आरोग्य – हेल्थकेयर में एआई

    • शिक्षा – शिक्षा में एआई

    • पर्यावरण – पर्यावरण और स्वच्छ ऊर्जा में एआई

    • परिवहन – परिवहन में एआई

    • ग्रामीण विकास – ग्रामीण विकास के लिए एआई

    • स्मार्ट सिटी के लिए एआई

    • विधि और न्याय – कानून और न्याय में एआई

  8. छात्र अपना आइडिया सबमिट करने के बाद, वेब पोर्टल के माध्यम से अपना ‘सर्टिफिकेट ऑफ एप्रिसिएशन’ डाउनलोड कर सकेंगे।

  9. अगले चरण के लिए विशेषज्ञों की एक स्वतंत्र समिति द्वारा प्रस्तावित समाधानों में से शीर्ष एआई-आधारित समाधानों का मूल्यांकन किया जाएगा।

चरण 2

  1. शॉर्टलिस्ट किए गए छात्र ऑनलाइन डीप डाइव एआई प्रशिक्षण में भाग लेंगे

  2. एआई फॉर यूथ कोच से समुचित परामर्श और मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए 3 दिवसीय फेस-टू-फेस बूट शिविर का आयोजन किया जाएगा।

  3. मेंटरशिप कैंप के बाद, छात्र नए ज्ञान का उपयोग आठ प्रमुख विषयों में से किसी एक पर एआई-सक्षम इनोवेशन/प्रोजेक्ट को विकसित करने और अपनी फाइनल प्रविष्टि सबमिट करने के लिए करेंगे।

  4. एक विशेषज्ञ जूरी द्वारा मूल्यांकन के बाद टॉप प्रोजेक्ट को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा।

चरण 3

  1. छात्रों को आईपीआर पर अप्रेंटिसशिप व मार्गदर्शन का अवसर प्रदान किया जाएगा।

  2. सबसे इनोवेटिव एआई-आधारित समाधानों की घोषणा की जाएगी और उन्हें एक राष्ट्रीय प्रदर्शन और सम्मान समारोह में आमंत्रित किया जाएगा

  3. छात्रों को निम्नलिखित श्रेणियों में विशेष पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा:

    • मोस्ट इंक्लूजिव प्रोजेक्ट अवार्ड

    • मोस्ट फ्यूचरिस्टिक प्रोजेक्ट अवार्ड

    • मोस्ट सस्टेनेबल प्रोजेक्ट अवार्ड

शिक्षक के चयन का मानदंड

  1. यदि आप एक शिक्षक हैं, तो आप यहाँ क्लिक करके कार्यक्रम के लिए स्वयं को नामांकित कर सकते हैं

  2. इस कार्यक्रम के लिए आप आवेदन कर सकते हैं / चुने जा सकते हैं, यदि आप:

    • किसी स्कूल में शिक्षक हैं

    • कक्षा 8 और इससे उच्चतर कक्षा के छात्रों को पढ़ाने का अनुभव हो।

    • एक शिक्षण संसाधन के रूप में टेक-सेवी तथा इंटरनेट का उपयोग करने में कुशल हों।

    • नई तकनीक सीखने के लिए उत्सुक और छात्रों को सीखाने को इच्छुक हों।

    • स्कूल में सह-पाठ्यचर्या या पाठ्येतर गतिविधियों से जुड़े हों।

    • संवादात्मक शिक्षण के लिए मास मीडिया टूल्स का उपयोग करते हों।

    • मेंटरशिप और नेतृत्व क्षमता हो।

पुरस्कार

छात्र

  1. ओरियंटेशन सत्र में भाग लेने वाले सभी छात्रों को ‘भागीदारी का प्रमाण पत्र’ प्रदान किया जाएगा।

  2. सफलता पूर्वक आइडिया सबमिट करने पर, छात्रों को प्रशंसा प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।

  3. चरण 2 के लिए चुने गए छात्रों को डीप डाइव एआई प्रशिक्षण पूरा होने पर एक प्रशिक्षण भागीदारी प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा।

  4. चयनित छात्रों को वरिष्ठ स
    रकारी अधिकारियों और उद्योग के प्रतिनिधियों के समक्ष विभिन्न स्तरों पर अपना इनोवेशन प्रदर्शित करने का अवसर मिलेगा।  

स्कूल:

  1. पंजीकरण में सक्रिय रूप से योगदान देने वाले, इंफ्रास्ट्रक्चर, डिजिटल हार्डवेयर आदि सुविधा प्रदान करने वाले स्कूलों की पहचान कर उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा।

सहायता के लिए संपर्क करें

किसी भी प्रश्न के लिए, आप हमें ncsupport@digitalindia.gov.in पर लिख सकते हैं या हेल्पलाइन नंबर +91-9964600800 (सुबह 9 से रात 8 बजे; सोमवार से शुक्रवार) पर कॉल कर सकते हैं।

VK Saini

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *